Friday, March 31, 2017

Inventor Of ATM - John Shepherd Barron

एटीएम  के आविष्कारक - जॉन शेफर्ड बैरन
Inventor Of ATM - John Shepherd Barron


 हैलो दोस्तों, आप सभी पाठकों का Hindi Tech Nature में स्वागत् है. आपने Cash पैसा निकालने वाले एटीएम मशीन (ATM Machine) तो जरुर देखे होंगे और कैश पैसा निकालने के लिए उनका इस्तेमाल भी जरुर किया होगा. नोटबंदी के बाद तो ATM के आगे लोगों की लम्बी-लम्बी


Inventor-Of-ATM-John-Shepherd-Barron
Google Search - John Shepherd Barron

कतारें लग जाया करती थी. ऐसे में आप इतनी महत्वपूर्ण मशीन एटीएम के आविष्कारक के बारे में जरुर जानना चाहेंगे। आज मैं बात करने जा रहा हूँ - जॉन शेफर्ड बैरन के बारे में जिन्होंने Cash पैसा निकालने वाले ATM (Automated Teller Machine) का आविष्कार किया था।

यूएसएसडी (USSD) कोड क्या होता है?    
  
  जॉन शेफर्ड बैरन का जन्म 23 जून, 1925 को भारत के पूर्वोत्तर स्थित राज्य मेघालय की राजधानी शिलॉंग में हुआ था।

             Inventor        -          John Shepherd Barron

             Born              -          23 Jun, 1925 (Shillong, British raj                                                                  
                                               Asam Now Meghalaya, India) 

             Died              -          15 May, 2010 (Scotland)

             Country         -          India
  
             Citizenship    -          British

             Education      -          University Of Cambridge,
                                               Trinity College, Cambridge
                                               University Of Edinburg

             Occupation    -          Inventor


   स्कॉटिश बिज़नेसमेन और आविष्कारक जॉन शेफर्ड बैरन अब इस दुनिया में नहीं है, लेकिन उनके द्वारा आविष्कार की गई एटीएम मशीन आज लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो गई है. जिस तरह बैंको में टेलर या रोकड़िया कर्मी होता है जो पैसे गिन कर ग्राहकों को भुगतान करता है. इसी से प्रेरित होकर बैरन ने ATM का आविष्कार किया था।

  एटीएम (ATM) मशीन बनाने का विचार कैसे आया? 

   वर्ष 1965 में ही उनके दिमाग में आटोमेटिक पैसे के भुगतान करने की मशीन का विचार आया था. वह उस समय प्रिंटिग फर्म 'De La Rue' में कार्यरत थे. एक बार उन्हें पैसा निकालने के लिए बैंक जाना था लेकिन स्नान करते वक्त उन्हें काफी देर हो गई, जिसके कारण वे बैंक एक मिनट की देरी से पहुंचे. लेकिन बैंक बंद हो चुका था और वे पैसे निकाल नहीं पाए इसके बाद ही उन्हें विचार आया कि यदि चॉकलेट निकालने वाली मशीन की तरह पैसे निकालने वाली मशीन भी हो, जिससे 24 घंटे Cash निकले, तो इससे लोगों को कितनी सहूलियत होगी. इसके बाद वे एटीएम मशीन (ATM Machine) के निर्माण में जुट गए।

  वर्ष 2007 में बैरन ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था, "मेरे दिमाग में यह बात कौंध गई थी, क्या ऐसा नहीं हो सकता कि मैं अपना पैसा विश्व या ब्रिटेन के किसी भी हिस्से में आसानी से निकाल सकूँ. नकदी के बदले चॉकलेट देने वाली मशीन से यह विचार मेरे दिमाग में आया था।"

 फाइल या फोल्डर को कैसे छिपाते हैं?


  शेफर्ड बैरन की लेटलतीफी से बनी पहली एटीएम मशीन   

  कभी-कभी किसी कि लेटलतीफी भी फायदेमंद होती है. जॉन शेफर्ड बैरन की लेटलतीफी का फायदा आज सारी दुनिया को हो रहा है. शेफर्ड बैरन की कोशिशों से बनी पहली एटीएम (ATM) मशीन बार्कले बैंक लंदन की शाखा में  वर्ष 1967 में लगी. उस समय के लोकप्रिय टी.वी. कलाकार रेग वार्ने (Star of the ITV Sitcom on the Buses), एटीएम से पैसा निकालने वाले पहले व्यक्ति थे. इसके कारण प्लास्टिक कार्ड या एटीएम कार्ड से पैसे निकालने के युग का आरम्भ हुआ। 

विंडोज ऊपयोगी कीबोर्ड शॉर्टकट 


  चार अंको का पिन   

  जॉन शेफर्ड बैरन ने पहले छह डिजिट (Six Digit) के पासवर्ड का विचार किया था, लेकिन अपनी पत्नी कैरोलिन मरे की वजह से उन्हें यह विचार वापस लेना पड़ा. उनकी वाइफ ने कहा कि 6 डिजिट ज्यादा है, और लोग इसे आसानी से याद नहीं रख पाएंगे. इस कारण बाद में उन्होंने चार डिजिट (Four Digit) का एटीएम पिन बनाया. आमतौर पर आज भी चार डिजिट के पिन का ही चलन है। 


  In 2005, Mr. John Shepherd Barron, was awarded the Order of the British Empire for his services to the Banking Industry "As the Inventor of the Automatic Cash Dispenser"

  15 मई 2010 को 84 वर्ष की आयु में स्कॉटलैंड में उनकी मृत्यु हो गई।

  
  अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ 
Facebook, Twitter और  Google+ पर  Share करना न भूलें।


Read also :- 1.ब्लॉगर डैशबोर्ड की पूरी जानकारी 
                    2.ब्लॉग,ब्लॉगर और ब्लॉगिंग क्या है? 
                   3.फ्री में वेबसाइट या ब्लॉग कैसे बनाते हैं ? 
                  4.अपने नाम की रिंगटोन बनाये और डाउनलोड करें
                 5.अपना जीमेल (E-mail ID)एकाउंट कैसे बनायें ?

No comments:

Post a Comment

Back to Top